Ratan tata biography in hindi – रतन टाटा की जीवनी हिंदी में

Ratan tata biography in hindi

नमस्ते दोस्तों आज हम आपसे भारत के बड़े उद्योगपति और बिजनेसमैन श्री Ratan tata biography in hindi देखेंगे। रतन टाटा, टाटा कंपनी के चेयरमैन। रतन टाटा साल 1991 से लेकर 2012 तक टाटा ग्रुप के अध्यक्ष रहे थे। तारीख 28 दिसंबर 2012 को रतन टाटा ने अध्यक्ष पद को छोड दिया था परंतु वो आज भी टाटा समुह के चैरिटेबल ट्रस्टी के रूप मे अपना काम कर रहे है। 

रतन टाटा ग्रुप की सभी प्रमुख कंपनी जेसे की टाटा स्टील, टाटा टी, टाटा मोटर्स, इंडियन होटल्स, टाटा पावर, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, टाटा केमिकल्स और टाटा टेलीसर्विसेज जेसी बडी कंपनी के अध्यक्ष थे और इनके आँखों के नीचे सारी कंपनी आज एक बड़े मुकाम पर है। इनमे रतन टाटा का बहुत बडा हाथ है कंपनी को नई ऊंचाई दिलाने में।

रतन टाटा जन्म और परिवार (Ratan tata biography in hindi)

रतन टाटा का जन्म 28 दिसंबर 1937 के दिन भारत के बॉम्बे शहर मे हुआ था जो अब मुंबई के नाम से जाना जाता है। रतन टाटा नवल टाटा के पुत्र थे और इनको नवाजबाई ने अपने पति रतनजी टाटा की मृत्यु के बाद रतन टाटा को दत्तक लिया था। जब रतन टाटा 10 साल के हुऐ थे और उनके भाई जिमी टाटा की उम्र 7 साल की थी तब उनके पिता नवल टाटा और माता सोनू टाटा एक दूसरे से अलग हो गए थे। इसके बाद उनका पालन पोषण उनकी दादी नवाजबाई टाटा के साथ हि हुआ। रतन टाटा का एक सौतेला भाई भी था जिसका नाम नोएल टाटा था। Ratan tata biography in hindi

रतन टाटा की शिक्षा 

रतन टाटा ने अपनी शुरुआती पढाई मुंबई के प्राथमिक स्कूल से की थी। जिसका नाम कैंपियन स्कूल था इसके बाद रतन टाटा अपनी आगे की माध्यमिक पढाई कैथेड्रल एंड जॉन कॉनन स्कूल से खतम करी। फिर रतन टाटा ने BSc में वास्तुकला की शिक्षा पूरी करी। इसके बाद साल 1962 को कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से कम्युनिकेटीव इंजीनियरिंग से खतम किया। इसके बाद रतन टाटा ने साल 1975 में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से एडवांस्ड मैनेजमेंट प्रोग्राम की शिक्षा पूरी की। Ratan tata biography in hindi

रतन टाटा का करियर 

रतन टाटा भारत में वापस लौटने से पहले लॉस एंजल के कैलिफोर्निया शहर मे एक जोन्स और एमोंस नामक जगह पर कुछ समय तक काम किया था। फिर उन्होंने साल 1961 में अपनी शुरुआत टाटा ग्रुप से की थी। शुरुआत में वो शॉप फ्लोर पर काम करने लगे इसके बाद धीरे-धीरे वो टाटा ग्रुप की और कंपनी से जुडते गए। इसके बाद रतन टाटा को साल 1971 में राष्ट्रीय रेडियो इलेक्ट्रॉनिक में निर्देशक के रूप मे नियुक्त किया गया। बाद मे रतन टाटा को साल 1981 में टाटा उद्योग का अध्यक्ष बनाया गया। फिर साल 1991 में जे.आर.डी टाटा ने टाटा ग्रुप ऑफ कंपनी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया और उत्तराधिकारी के रूप मे रतन टाटा को टाटा ग्रुप का अध्यक्ष बनाया गया। Ratan tata biography in hindi

रतन टाटा के नेतृत्व के नीचे टाटा ग्रुप के समूह ने बहुत ऊँचाइयाँ छुई थी। रतन टाटा ने टाटा समूह में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज की शुरुआत की थी और न्यू यॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में टाटा मोटर्स को लिस्ट किया था। टाटा मोटर्स ने अपनी पहली कार साल 1998 में टाटा इंडिगो भारतीय कार को पेश किया था। इसके बाद टाटा मोटर्स ने फोर्ड कंपनी से जेगुआर और लैंड रोवर कार खरीद ली और उनको भी ऊचाईयों पर पोहचा दिया। इसके बाद टाटा समूह ने कोरस को भी टेकओवर कर लिया और उनकी मार्केट में साख बढ गई। इसके बाद रतन टाटा ने दुनिया की सबसे सस्ती कार नैनो की शुरुआत की। 

इसके बाद 28 दिसंबर 2012 को रतन टाटा, टाटा ग्रुप से सेवानिवृत्त हो गए और उनकी जगह पर 44 वर्ष के साइरस मिस्त्री को बिठाया गया। रतन टाटा सेवानिवृत्त हो चुके है पर आज भी वह टाटा कंपनी में काम-काज करते रहते है। वर्तमान मे रतन टाटा, टाटा ग्रुप के सेवानिवृत्त अध्यक्ष है और टाटा 2 ट्रस्ट के अध्यक्ष भी बने हुए है। रतन टाटा कई कंपनियां में बोर्ड निर्देशक भी है। 

रतन टाटा को अपने जीवन मे बहुत से पुरस्कार से सम्मानित किया गया जा चूक है जिसमें पद्मा भूषण और पद्मा विभूषण भी शामिल है। Ratan tata biography in hindi

Google adsense क्या है?

रतन टाटा मुकेश अंबानी से आमिर क्यूँ नहीं है। 

रतन टाटा ने एक इंटरव्यू में कहा था मुकेश अंबानी एक बिजनेसमैन है। में एक उद्योगपति हूं में अपने देश भारत को खुशहाल देश बनाना चाहता हूं। इसलिए वे अपने कमाई का बहुत पैसा चैरिटी में दान कर देते है। टाटा ग्रुप 100 से भी ज्यादा देशों में कार्य करती है और इसमे 7 लाख से भी ज्यादा कर्मचारि कार्य करते है।

उम्मीद करता हूं Ratan tata biography in hindi पढके आपको पसंद आई होगी। जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों को भी शेयर कीजिए।

Leave a Comment